वन्यजीव अभयारण्य (Wildlife Sanctuary) क्या है?

वन्यजीव अभ्यारण्य एक ऐसी जगह होती है जहां जानवरों को चराने या लकड़ी आदि इकट्ठा करने की अनुमति तो होती है , परंतु कुछ अपवादों को छोड़कर मनुष्यों का बसना प्रतिबंधित होता है । वन्यजीव अभयारण्यों का गठन किसी एक प्रजाति अथवा कुछ विशिष्ट प्रजातियों के संरक्षण के लिये किया जाता है अर्थात् ये विशिष्ट प्रजाति आधारित संरक्षित क्षेत्र होते हैं। वन्यजीव अभयारण्य और राष्ट्रीय उद्यान दोनों की घोषणा राज्य सरकार केवल आदेश देकर कर सकती है , जबकि सीमा में परिवर्तन के लिये राज्य विधानमंडल को एक संकल्प पारित करना होता है ।

भारत के वन्यजीव अभयारण्य

भारत में वर्तमान में 573 वन्यजीव अभयारण्य हैं जो 123,762.56 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैले हुए हैं, जो देश के भौगोलिक क्षेत्र का 3.76% है (राष्ट्रीय वन्यजीव डाटाबेस केंद्र, नवंबर 2023)। संरक्षित क्षेत्र नेटवर्क रिपोर्ट में 218 अन्य अभयारण्यों का प्रस्ताव है जो 16,829 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करते हैं।

नीचे दी गई तालिका भारत में वन्यजीव अभयारण्यों का राज्य-वार विभाजन दर्शाती है:

राज्यअभयारण्यों की संख्याक्षेत्रफल (वर्ग किमी²)राज्य क्षेत्र का %
आंध्र प्रदेश136771.404.23
अरुणाचल प्रदेश137614.569.09
असम171728.952.20
बिहार122851.673.03
छत्तीसगढ़113760.282.78
गोवा6647.9117.50
गुजरात2316618.428.48
हरियाणा7118.210.27
हिमाचल प्रदेश286115.9710.99
झारखंड111955.822.45
कर्नाटक388216.694.28
केरल182156.215.55
मध्य प्रदेश247046.192.29
महाराष्ट्र497861.702.55
मणिपुर7708.143.17
मेघालय494.110.42
मिजोरम91359.756.45
नागालैंड443.910.26
ओडिशा197094.654.56
पंजाब13326.600.65
राजस्थान255592.381.63
सिक्किम7399.105.62
तमिलनाडु337096.545.46
तेलंगाना95672.704.94
त्रिपुरा4603.645.76
उत्तर प्रदेश265822.202.42
उत्तराखंड72690.125.03
पश्चिम बंगाल161440.181.62
अंडमान-और-निकोबार97395.604.80
चंडीगढ़226.0122.82
दादरा और नगर हवेली192.1718.
दिल्ली1
भारत में वन्यजीव अभयारण्यों का राज्य-वार विभाजन

आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश के सभी 29 वन्यजीव अभयारण्य निम्नलिखित है:

  1. श्रीशैलम वन्यजीव अभयारण्य
  2. नागार्जुनसागर-श्रीशैलम टाइगर रिजर्व
  3. पापिकोंडा राष्ट्रीय उद्यान
  4. कोरिंगा वन्यजीव अभयारण्य
  5. कृष्णा वन्यजीव अभयारण्य
  6. एलुरु वन्यजीव अभयारण्य
  7. मल्यवनथम वन्यजीव अभयारण्य
  8. गुंडला ब्रह्मेस्वरम वन्यजीव अभयारण्य
  9. उप्पूलापडु वन्यजीव अभयारण्य
  10. भद्राचलम वन्यजीव अभयारण्य
  11. अमरावती वन्यजीव अभयारण्य
  12. नल्लमला हिल्स वन्यजीव अभयारण्य
  13. कौतल वन्यजीव अभयारण्य
  14. रोल्लापडु पक्षी अभयारण्य
  15. पेरुमल वन्यजीव अभयारण्य
  16. गंडीकोटा वन्यजीव अभयारण्य
  17. नागार्जुनसागर वन्यजीव अभयारण्य
  18. मंचेरियल वन्यजीव अभयारण्य
  19. वेमुलुवाड वन्यजीव अभयारण्य
  20. देवरकोंडा वन्यजीव अभयारण्य
  21. यल्लावरम वन्यजीव अभयारण्य
  22. गुडुर वन्यजीव अभयारण्य
  23. श्रीकालहस्ती वन्यजीव अभयारण्य
  24. अनंतपुरम वन्यजीव अभयारण्य
  25. अंबेडकर वन्यजीव अभयारण्य
  26. मछलीपट्टनम वन्यजीव अभयारण्य
  27. प्रकाशम वन्यजीव अभयारण्य
  28. श्रीकाकुलम वन्यजीव अभयारण्य
  29. विजयनगरम वन्यजीव अभयारण्य

अरुणाचल प्रदेश

अरुणाचल प्रदेश के 17 वन्यजीव अभयारण्य निम्नलिखित है:

  1. नामदाफा राष्ट्रीय उद्यान
  2. ईगलनेस्ट वन्यजीव अभयारण्य
  3. दिबांग वन्यजीव अभयारण्य
  4. मोजु वन्यजीव अभयारण्य
  5. सियोम वन्यजीव अभयारण्य
  6. पासीघाट वन्यजीव अभयारण्य
  7. येपिया वन्यजीव अभयारण्य
  8. केलांग वन्यजीव अभयारण्य
  9. तवांग वन्यजीव अभयारण्य
  10. सलीम अली वन्यजीव अभयारण्य
  11. लुकसांग वन्यजीव अभयारण्य
  12. डोंगपोरी वन्यजीव अभयारण्य
  13. थिंगबु वन्यजीव अभयारण्य
  14. नामचिक वन्यजीव अभयारण्य
  15. Kamlang वन्यजीव अभयारण्य
  16. रोइंग वन्यजीव अभयारण्य
  17. दिहुंग वन्यजीव अभयारण्य

असम

असम के 28 वन्यजीव अभयारण्य निम्नलिखित है:

  1. अबोय पहाड़ी वन्यजीव अभयारण्य
  2. अमचांग वन्यजीव अभयारण्य
  3. बकसा वन्यजीव अभयारण्य
  4. बालीपारा वन्यजीव अभयारण्य
  5. बारांडी वन्यजीव अभयारण्य
  6. बेकी वन्यजीव अभयारण्य
  7. भेलुगुरी-मोकोकचुंग वन्यजीव अभयारण्य
  8. बिहालीपारा वन्यजीव अभयारण्य
  9. ब्लैक हिल्स वन्यजीव अभयारण्य
  10. बोकाजन वन्यजीव अभयारण्य
  11. बोंगाईगांव वन्यजीव अभयारण्य
  12. बुरा चापोरी वन्यजीव अभयारण्य
  13. धनश्री वन्यजीव अभयारण्य
  14. दीपोर बील वन्यजीव अभयारण्य
  15. डिब्रू-सैखोवा राष्ट्रीय उद्यान
  16. गैंडा पारा वन्यजीव अभयारण्य
  17. गारो पहाड़ी वन्यजीव अभयारण्य
  18. हाजो वन्यजीव अभयारण्य
  19. जादुआर वन्यजीव अभयारण्य
  20. ककड़झारा वन्यजीव अभयारण्य
  21. कान्हाई राष्ट्रीय उद्यान
  22. लाओखोवा वन्यजीव अभयारण्य
  23. मानस राष्ट्रीय उद्यान
  24. मिशिंग वन्यजीव अभयारण्य
  25. मोकोकचुंग वन्यजीव अभयारण्य
  26. नंबोर वन्यजीव अभयारण्य
  27. ओरंग राष्ट्रीय उद्यान
  28. पबई वन्यजीव अभयारण्य
  29. राजीव गांधी राष्ट्रीय उद्यान
  30. सालुगारा वन्य

बिहार

बिहार में कुल 12 वन्यजीव अभयारण्य हैं।

  • वाल्मीकि राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य: यह भारत के सबसे पुराने राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है और बाघों के लिए प्रसिद्ध है। यह पश्चिमी चंपारण जिले में स्थित है और नेपाल की सीमा से लगा हुआ है।
  • राजगीर वन्यजीव अभयारण्य :यह अभयारण्य राजगीर के पहाड़ी इलाकों में स्थित है। यहां कई प्रकार के जानवर पाए जाते हैं, जिनमें चीतल, सांभर, नीलगाय, जंगली सूअर और लंगूर शामिल हैं।
  • भीमबांध वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य गया जिले में स्थित है। यह गंगा नदी के किनारे स्थित है और यहां कई प्रकार के पक्षी पाए जाते हैं, जिनमें हंस, बत्तख, और सारस शामिल हैं।
  • कैमूर वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य कैमूर पहाड़ियों में स्थित है। यह घने जंगलों से घिरा हुआ है और यहां कई प्रकार के जानवर पाए जाते हैं, जिनमें बाघ, तेंदुआ, हाथी, और गैंडा शामिल हैं।

5. गौतम बुद्ध वन्यजीव अभयारण्य

यह अभयारण्य गया जिले में स्थित है। यह बोधगया के पास स्थित है और यहां कई प्रकार के जानवर पाए जाते हैं, जिनमें चीतल, सांभर, नीलगाय, और जंगली सूअर शामिल हैं।

6. कांवर झील पक्षी अभयारण्य

यह अभयारण्य बेगूसराय जिले में स्थित है। यह एक बड़ी झील है और यहां कई प्रकार के पक्षी पाए जाते हैं, जिनमें हंस, बत्तख, और सारस शामिल हैं।

7. उज्जयन पक्षी अभयारण्य

यह अभयारण्य दरभंगा जिले में स्थित है। यह एक बड़ी झील है और यहां कई प्रकार के पक्षी पाए जाते हैं, जिनमें हंस, बत्तख, और सारस शामिल हैं।

8. मझौलिया पक्षी अभयारण्य

यह अभयारण्य मुंगेर जिले में स्थित है। यह गंगा नदी के किनारे स्थित है और यहां कई प्रकार के पक्षी पाए जाते हैं, जिनमें हंस, बत्तख, और सारस शामिल हैं।

9. बगहा वन्यजीव अभयारण्य

यह अभयारण्य पश्चिमी चंपारण जिले में स्थित है। यह नेपाल की सीमा से लगा हुआ है और यहां कई प्रकार के जानवर पाए जाते हैं, जिनमें बाघ, तेंदुआ, हाथी, और गैंडा शामिल हैं।

10. वाल्मीकिनगर वन्यजीव अभयारण्य

यह अभयारण्य पश्चिमी चंपारण जिले में स्थित है। यह नेपाल की सीमा से लगा हुआ है और यहां कई प्रकार के जानवर पाए जाते हैं, जिनमें बाघ, तेंदुआ, हाथी, और गैंडा शामिल हैं।

11. लौकैया-चंदन वन्यजीव अभयारण्य

यह अभयारण्य गया जिले में स्थित है। यह घने जंगलों से घिरा हुआ है और यहां कई प्रकार के जानवर पाए जाते हैं

छत्तीसगढ़

गोवा

गोवा के वन्यजीव अभयारण्यों निम्नलिखित है:

1. मोल्लेम राष्ट्रीय उद्यान और भगवान महावीर अभयारण्य

यह अभयारण्य गोवा का सबसे बड़ा वन्यजीव अभयारण्य है और यह पश्चिमी घाट के दक्षिणी भाग में स्थित है। यह अभयारण्य घने जंगलों, ऊंचे पहाड़ों और झरनों से भरा हुआ है। यहां बाघ, तेंदुए, हाथी, हिरण और कई तरह के पक्षी पाए जाते हैं।

2. बोंडला वन्यजीव अभयारण्य

यह अभयारण्य गोवा का सबसे पुराना वन्यजीव अभयारण्य है और यह राज्य के उत्तर-पूर्वी भाग में स्थित है। यह अभयारण्य घने जंगलों, खुले मैदानों और झीलों से भरा हुआ है। यहां हिरण, सांभर, चित्तल, जंगली सूअर और कई तरह के पक्षी पाए जाते हैं।

3. कोटीगाओ वन्यजीव अभयारण्य

यह अभयारण्य गोवा का सबसे छोटा वन्यजीव अभयारण्य है और यह राज्य के दक्षिणी भाग में स्थित है। यह अभयारण्य घने जंगलों, ऊंचे पहाड़ों और झरनों से भरा हुआ है। यहां बाघ, तेंदुए, हाथी, हिरण और कई तरह के पक्षी पाए जाते हैं।

4. माडी वन्यजीव अभयारण्य

यह अभयारण्य गोवा का नवीनतम वन्यजीव अभयारण्य है और यह राज्य के पूर्वी भाग में स्थित है। यह अभयारण्य घने जंगलों, खुले मैदानों और झीलों से भरा हुआ है। यहां हिरण, सांभर, चित्तल, जंगली सूअर और कई तरह के पक्षी पाए जाते हैं।

गुजरात

गुजरात के वन्यजीव अभयारण्य निम्नलिखित हैं:

  1. अंबाजी वन्यजीव अभयारण्य
  2. बाला सिनोर वन्यजीव अभयारण्य
  3. बालोद वन्यजीव अभयारण्य
  4. बर्डा वन्यजीव अभयारण्य
  5. बीजागढ़ वन्यजीव अभयारण्य
  6. चंपानेर-पावागढ़ अभयारण्य
  7. दांडी वन्यजीव अभयारण्य
  8. देवलीया पार्क
  9. ढेबरी वन्यजीव अभयारण्य
  10. गिर राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य
  11. जालोर वन्यजीव अभयारण्य
  12. जंबूघोड़ा वन्यजीव अभयारण्य
  13. जोरावर सिंह वन्यजीव अभयारण्य
  14. कांकरिया झील अभयारण्य
  15. कच्छ काला हिरण अभयारण्य
  16. कच्छ छोटा रण अभयारण्य
  17. लखपत वन्यजीव अभयारण्य
  18. महेसा वन्यजीव अभयारण्य
  19. नाल सरोवर अभयारण्य
  20. नरेंद्र मोदी वन्यजीव अभयारण्य
  21. पोरबंदर वन्यजीव अभयारण्य
  22. राठवा वन्यजीव अभयारण्य
  23. सांभर झील अभयारण्य
  24. शाहपुर वन्यजीव अभयारण्य
  25. शूल्पनेश्वर वन्यजीव अभयारण्य
  26. सिंधुदुर्ग वन्यजीव अभयारण्य
  27. तरंगा हिल वन्यजीव अभयारण्य
  28. वेरावल वन्यजीव अभयारण्य
  29. वालवा वन्यजीव अभयारण्य
  30. वनगंगा वन्यजीव अभयारण्य

हरियाणा

हरियाणा में 10 वन्यजीव अभयारण्य हैं, जिनके नाम और स्थान इस प्रकार हैं:

  1. बीबीपुर वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य कुरुक्षेत्र जिले में स्थित है और काले हिरणों के लिए प्रसिद्ध है।
  2. कालीदेवी वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य करनाल जिले में स्थित है और काले हिरणों, नीलगायों और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।
  3. चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य यमुनानगर जिले में स्थित है और बाघों, तेंदुओं, हाथियों और हिरणों के लिए प्रसिद्ध है।
  4. फिरोजपुर झिरका वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य गुरुग्राम जिले में स्थित है और काले हिरणों, चीतल और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।
  5. कौशल वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य रेवाड़ी जिले में स्थित है और काले हिरणों, चीतल और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।
  6. मंथन वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य रोहतक जिले में स्थित है और काले हिरणों, चीतल और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।
  7. नादर वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य महेंद्रगढ़ जिले में स्थित है और काले हिरणों, चीतल और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।
  8. पिंजोर वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य पंचकूला जिले में स्थित है और काले हिरणों, चीतल और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।
  9. सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान: यह राष्ट्रीय उद्यान गुरुग्राम जिले में स्थित है और काले हिरणों, चीतल और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।
  10. यमुनानगर वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य यमुनानगर जिले में स्थित है और काले हिरणों, चीतल और चिंकारों के लिए प्रसिद्ध है।

हिमाचल प्रदेश

  1. कालाटोप खज्जियार वन्यजीव अभयारण्य (चंबा)
  2. रेणुका वन्यजीव अभयारण्य (सिरमौर)
  3. कफोता वन्यजीव अभयारण्य (शिमला)
  4. नारकंडा वन्यजीव अभयारण्य (शिमला)
  5. धर्मशाला वन्यजीव अभयारण्य (कांगड़ा)
  6. ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान (कुल्लू)
  7. पिन घाटी राष्ट्रीय उद्यान (लाहौल और स्पीति)
  8. सिंबलवाड़ा वन्यजीव अभयारण्य (सोलन)
  9. भीमकली वन्यजीव अभयारण्य (सोलन)
  10. दरंगhati वन्यजीव अभयारण्य (सोलन)
  11. चैल वन्यजीव अभयारण्य (सोलन)
  12. कसौली वन्यजीव अभयारण्य (सोलन)
  13. मजथल वन्यजीव अभयारण्य (कांगड़ा)
  14. लीला वन्यजीव अभयारण्य (कांगड़ा)
  15. बांदल वन्यजीव अभयारण्य (चंबा)
  16. ट्राउट स्ट्रीम वन्यजीव अभयारण्य (कुल्लू)
  17. सैंज वन्यजीव अभयारण्य (कुल्लू)
  18. नग्गर वन्यजीव अभयारण्य (कुल्लू)
  19. रोहतांग वन्यजीव अभयारण्य (लाहौल और स्पीति)
  20. चंद्रताल वन्यजीव अभयारण्य (लाहौल और स्पीति)
  21. क्युमरी वन्यजीव अभयारण्य (लाहौल और स्पीति)
  22. धारचुला वन्यजीव अभयारण्य (पिथौरागढ़)
  23. सोबला वन्यजीव अभयारण्य (देहरादून)
  24. राजाजी राष्ट्रीय उद्यान (देहरादून)
  25. खिंडा वन्यजीव अभयारण्य (उत्तरकाशी)
  26. गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान (उत्तरकाशी)
  27. यमुनोत्री राष्ट्रीय उद्यान (उत्तरकाशी)
  28. केदारनाथ वन्यजीव अभयारण्य (रुद्रप्रयाग)
  29. नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान (चमोली)
  30. वैली ऑफ फ्लॉवर्स राष्ट्रीय उद्यान (चमोली)
  31. फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान (चमोली)
  32. Kedarnath Musk Deer Sanctuary (रुद्रप्रयाग)

यह सूची हिमाचल प्रदेश के सभी 32 वन्यजीव अभयारण्यों को शामिल करती है।

झारखंड

1. पलामू अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 794.33 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 17 जुलाई 1976
  • मुख्य आकर्षण: हाथी, गौर, सांभर
  • प्रोजेक्ट टाइगर के तहत संरक्षित

2. हजारीबाग अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 186.25 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 24 मई 1976
  • मुख्य आकर्षण: तेंदुआ, जंगली सूअर, लकड़बग्घा

3. महुआदनार वुल्फ अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 63.25 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 23 जून 1976
  • मुख्य आकर्षण: भेड़िया, चित्तीदार हिरण, जंगली सूअर
  • प्रोजेक्ट टाइगर का बफर क्षेत्र

4. दलमा अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 193.22 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 23 जून 1976
  • मुख्य आकर्षण: हाथी, माउस हिरण, बार्किंग हिरण, जंगली सूअर

5. तोपचांची अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 8.75 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 3 मई 1978
  • मुख्य आकर्षण: तेंदुआ, लंगूर, भौंकने वाला हिरण, जंगली सूअर

6. लॉलॉन्ग सेंचुरी

  • क्षेत्रफल: 207 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 7 अगस्त 1978
  • मुख्य आकर्षण: तेंदुआ, जंगली सूअर, लंगूर, सांभर, नीलगाय, चित्तीदार हिरण, हीना, भौंकने वाला हिरण

7. कोडरमा अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 177.95 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 25 जनवरी 1985
  • मुख्य आकर्षण: सांभर, तेंदुआ, भौंकने वाला हिरण, नीला बैल

8. पारसनाथ अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 49.33 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 2 अगस्त 1981
  • मुख्य आकर्षण: सांभर, तेंदुआ, भौंकने वाला हिरण, नीला बैल

9. पालकोट अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 183.18 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 22 अगस्त 1990
  • मुख्य आकर्षण: तेंदुआ, सुस्त भालू, हिरण

10. गौतम बुद्ध अभयारण्य

  • क्षेत्रफल: 100 वर्ग किलोमीटर
  • स्थापना: 1971
  • मुख्य आकर्षण: सांभर, तेंदुआ, नीला बैल

कर्नाटक

  • अरासीकेरे आलसी भालू अभयारण्य (Araskere Slothbear Abhyaranya)
  • अरबीथित्तू वन्यजीव अभयारण्य (Arabithittu Vanya Jeev Abhyaranya)
  • अट्टीवेरी पक्षी अभयारण्य (Attiveri Pakshi Abhyaranya)
  • भद्रा वन्यजीव अभयारण्य (Bhadra Vanya Jeev Abhyaranya)
  • भीमगड वन्यजीव अभयारण्य (Bhimgad Vanya Jeev Abhyaranya)
  • बीआरटी वन्यजीव अभयारण्य (BRT Vanya Jeev Abhyaranya)
  • बुक्कापट्टना चींकारा वन्यजीव अभयारण्य (Bukkapatna Chinkara Vanya Jeev Abhyaranya)
  • कावेरी विस्तार वन्यजीव अभयारण्य (Kaveri Vistara Vanya Jeev Abhyaranya)
  • कावेरी वन्यजीव अभयारण्य (Cauvery Vnya Jeev Abhyaranya)
  • चिंचोली वन्यजीव अभयारण्य (Chincholli Vanya Jeev Abhyaranya)
  • दांडेली वन्यजीव अभयारण्य (Dandeli Vanya Jeev Abhyaranya)
  • दारोजी आलसी भालू अभयारण्य (Daroji Sloth Bear Abhyaranya)
  • घाटप्रभा पक्षी अभयारण्य (Ghataprabha Pakshi Abhyaranya)
  • गुडेकटे विस्तार वन्यजीव अभयारण्य (Gudekote Vistara Vanya Jeev Abhyaranya)
  • गुडेकटे आलसी भालू अभयारण्य (Gudekote Sloth Bear Abhyaranya)
  • जोगिमती वन्यजीव अभयारण्य (Jogimatti Vanya Jeev Abhyaranya)
  • कमसंद्रा वन्यजीव अभयारण्य (Kammasandra Vanya Jeev Abhyaranya)
  • कप्पटगड्डा वन्यजीव अभयारण्य (Kappatagudda Vanya Jeev Abhyaranya)
  • माला महादेश्वरा वन्यजीव अभयारण्य (Malai Mahadeshwara Vanya Jeev Abhyaranya)
  • मेल्कोटे वन्यजीव अभयारण्य (Melkote Vanya Jeev Abhyaranya)
  • मूकांबिका वन्यजीव अभयारण्य (Mookambika Vanya Jeev Abhyaranya)
  • नुगू वन्यजीव अभयारण्य (Nugu Vanya Jeev Abhyaranya)
  • पुष्पगिरि वन्यजीव अभयारण्य (Pushpagiri Vanya Jeev Abhyaranya)
  • रानबेन्नूर काला हिरण अभयारण्य (Rane Bennur Black Buck Abhyaranya)
  • रंगायनदुर्ग वन्यजीव अभयारण्य (Rangayyanadurga Vanya Jeev Abhyaranya)
  • रंगनाथीट्टू पक्षी अभयारण्य (Ranganathittu Pakshi Abhyaranya)
  • शेट्टीहल्ली वन्यजीव अभयारण्य (Shettihalli Vanya Jeev Abhyaranya)
  • शरावती घाटी सिंह पूंछ लंगूर वन्यजीव अभयारण्य (Shravanthi Valley Lion Tailed Macaque Vanya Jeev Abhyaranya)
  • श्री रामदेवाराबेट्टा गिद्ध अभयारण्य (Sri Ramadevarabetta Vulture Abhyaranya)
  • तलकावेरी वन्यजीव अभयारण्य (Talacauvery Vanya Jeev Abhyaranya)
  • थिमलापुरा वन्यजीव अभयारण्य (Thimlapura Vanya Jeev Abhyaranya)
  • उत्तरेगुड्डा वन्यजीव अभयारण्य (Uttaregudda Vanya Jeev Abhyaranya)
  • यादहल्ली चींकारा वन्यजीव अभयारण्य (Yadahalli Chinkara Vanya Jeev Abhyar

केरल

1. पेरियार बाघ अभयारण्य:

  • स्थान: इडुक्की जिला
  • क्षेत्रफल: 925 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1950

2. नेय्यार वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: तिरुवनंतपुरम जिला
  • क्षेत्रफल: 128 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1958

3. पीची-वाझानी वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: त्रिशूर जिला
  • क्षेत्रफल: 125 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1958

4. परंबिकुलम वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: पलक्कड़ जिला
  • क्षेत्रफल: 285 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1973

5. वायनाड वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: वायनाड जिला
  • क्षेत्रफल: 344.44 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1973

6. इडुक्की वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: इडुक्की जिला
  • क्षेत्रफल: 70 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1976

7. पेप्पारा वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: तिरुवनंतपुरम जिला
  • क्षेत्रफल: 53 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1983

8. थट्टेकड पक्षी अभयारण्य:

  • स्थान: एर्नाकुलम जिला
  • क्षेत्रफल: 25 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1983

9. शेंडुर्नी वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: कोल्लम जिला
  • क्षेत्रफल: 171 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1984

10. चिन्नार वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: इडुक्की जिला
  • क्षेत्रफल: 90.44 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1984

11. चिमोनी वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: त्रिशूर जिला
  • क्षेत्रफल: 85 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1984

12. आराम वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: कन्नूर जिला
  • क्षेत्रफल: 55 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 1984

13. मंगलवनम पक्षी अभयारण्य:

  • स्थान: एर्नाकुलम जिला
  • क्षेत्रफल: 0.027 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 2004

14. कुरिंजिमाला अभयारण्य:

  • स्थान: इडुक्की जिला
  • क्षेत्रफल: 32 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 2006

15. चोन्नूर मोर पक्षी अभयारण्य:

  • स्थान: पलक्कड़ जिला
  • क्षेत्रफल: 3.42 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 2007

16. मालाबार वन्यजीव अभयारण्य:

  • स्थान: कोझिकोड जिला
  • क्षेत्रफल: 74.215 वर्ग किमी
  • स्थापना का वर्ष: 2010

मध्य प्रदेश

महाराष्ट्र

मणिपुर

  • यंगौपोकपी लोचाओ वन्यजीव अभयारण्य, टेंगनोपाल जिला
  • कैलाम वन्यजीव अभयारण्य, चुराचंदपुर जिला
  • झिरी-मकरू वन्यजीव अभयारण्य, तामेंगलांग जिला
  • चालाक वन्यजीव अभयारण्य, तामेंगलांग जिला
  • ज़िलाड वन्यजीव अभयारण्य, तामेंगलोंग जिला
  • खोंगजेइंगंबा अभयारण्य, बिष्णुपुर जिला

मेघालय

  • सिजू वन्यजीव अभयारण्य (1979):
    • क्षेत्रफल: 5.81 वर्ग किमी
    • स्थान: दक्षिण गारो हिल्स जिला
    • विवरण: सिजू अपनी जीवंत पक्षी जीवन के लिए प्रसिद्ध है, यह 400 से अधिक पक्षी प्रजातियों का महत्वपूर्ण आवास है, जिनमें लुप्तप्राय बंगाल फ्लोरिकन और कई हॉर्नबिल किस्में शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, यह एशियाई हाथियों, गिब्बन और मकाक जैसे विभिन्न स्तनधारियों को भी आश्रय देता है।
  • नोंगखयंल्लम वन्यजीव अभयारण्य (1981):
    • क्षेत्रफल: 29 वर्ग किमी
    • स्थान: रि-भोई जिला
    • विवरण: यह अभयारण्य विविध पारिस्थितिकी प्रणालियों को समेटे हुए है, जिसमें अर्ध-सदाबहार वन से लेकर घास के मैदान शामिल हैं। यह घने जंगलों वाले तेंदुओं, एशियाई हाथियों और हिरणों के साथ-साथ एक जीवंत पक्षी आबादी का घर है।
  • बाघमारा पिचर प्लांट अभयारण्य (1984):
    • क्षेत्रफल: 0.02 वर्ग किमी (भारत के सबसे छोटे संरक्षित क्षेत्रों में से एक)
    • स्थान: दक्षिण गारो हिल्स जिला
    • विवरण: विशेष रूप से अद्वितीय और संकटग्रस्त नेपेंथ्स खासीयाना (घड़े का पौधा) के संरक्षण के लिए स्थापित, यह अभयारण्य इस आकर्षक मांसाहारी पौधे के एक महत्वपूर्ण आबादी की रक्षा करता है।
  • नरपूर वन्यजीव अभयारण्य (2014):
    • क्षेत्रफल: 59.90 वर्ग किमी
    • स्थान: पूर्वी जयंतिया हिल्स जिला
    • विवरण: जयंतिया हिल्स की समृद्ध जैव विविधता को संरक्षित करने के लिए स्थापित, नरपूर विभिन्न लुप्तप्राय प्रजातियों का घर है, जिनमें एशियाई हाथी, एशियाई गोल्डन कैट और लंगूर शामिल हैं। यह अभयारण्य क्षेत्र के जलग्रहण क्षेत्रों की सुरक्षा और महत्वपूर्ण पारिस्थितिकी तंत्र सेवाएं प्रदान करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

मिजोरम

  • नगेंपुई वन्य जीव अभयारण्य (Ngengpui Vanya Jeev Abhyaran)
    • क्षेत्रफल: 110 वर्ग किमी
    • स्थान: लॉन्गत्लाई (Lawngtlai)
  • खांगलुंग वन्य जीव अभयारण्य (Khawnglung Vanya Jeev Abhyaran)
    • क्षेत्रफल: 35.75 वर्ग किमी
    • स्थान: लुंगलेई (Lunglei)
  • लेंगतेंग वन्य जीव अभयारण्य (Lengteng Vanya Jeev Abhyaran)
    • क्षेत्रफल: 60 वर्ग किमी
    • स्थान: चंफाई (Champhai)
  • तावी वन्य जीव अभयारण्य (Tawi Vanya Jeev Abhyaran)
    • क्षेत्रफल: 35 वर्ग किमी
    • स्थान: आइजल (Aizawl)
  • थोरंगतलांग वन्य जीव अभयारण्य (Thorangtlang Vanya Jeev Abhyaran)
    • क्षेत्रफल: 50 वर्ग किमी
    • स्थान: लुंगलेई (Lunglei)
  • पुअरेंग वन्य जीव अभयारण्य (Pualreng Vanya Jeev Abhyaran)
    • क्षेत्रफल: 50 वर्ग किमी
    • स्थान: कोलासिब (Kolasib)
  • टोकालो वन्य जीव अभयारण्य (Tokalo Vanya Jeev Abhyaran)
    • क्षेत्रफल: 250 वर्ग किमी
    • स्थान: सइहा (Saiha)

नागालैंड

  • फकीम वन्यजीव अभयारण्य: 1983 में स्थापित, यह अभयारण्य 640 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है। इसे ब्लिथ्स ट्रैगोपैन, जो एक लुप्तप्रायः तीतर की प्रजाति है, के संरक्षण के लिए स्थापित किया गया था। यह अभयारण्य दूरस्थ और कम पहुँच वाले क्षेत्र में सारामती पहाड़ की ढलानों पर स्थित है, जो इसकी समृद्ध जैव विविधता में योगदान देता है।
  • पुलीबैडज वन्यजीव अभयारण्य: 1980 में अधिसूचित यह अभयारण्य, नागालैंड के महत्वपूर्ण जलग्रहण क्षेत्रों में से एक में स्थित है। दुकोउ घाटी, जाफू शिखर, और साथ लगने वाला पुलीबैडज वन दुर्लभ और लुप्तप्रायः पक्षी प्रजातियों की उपस्थिति के कारण महत्वपूर्ण पक्षी क्षेत्र (IBA) के रूप में नामित हैं।
  • सिंफन वन्यजीव अभयारण्य: 2009 में स्थापित, यह अभयारण्य 23.57 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। यह मोन जिले, नागालैंड में स्थित है और इसे हाथी अभयारण्य के रूप में भी नामित किया गया है। सिंफन वन्यजीव अभयारण्य अपने विविध वनस्पतियों और जीवों के लिए जाना जाता है, जिनमें हाथी, बाघ, तेंदुए और विभिन्न पक्षी प्रजातियां शामिल हैं।

ओडिशा

यहाँ 19 वन्यजीव अभयारण्य हैं जो विविध प्रकार के वनस्पतियों और जीवों का घर हैं।

1. भितरकणिका: यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा मैंग्रोव वन है और रॉयल बंगाल टाइगर, मगरमच्छ, हिरण, और कई पक्षी प्रजातियों का घर है।

2. चिल्का: यह भारत का सबसे बड़ा खारे पानी का झील है और लाखों प्रवासी पक्षियों के लिए आश्रय स्थल है।

3. सिमिलिपाल: यह भारत का एकमात्र राष्ट्रीय उद्यान है जहाँ बाघ, हाथी, और गैंडे एक साथ रहते हैं।

4. नंदनकानन: यह ओडिशा का सबसे प्रसिद्ध वन्यजीव अभयारण्य है और शेर, बाघ, हाथी, और हिरण सहित कई जानवरों का घर है।

5. गहिरमाथा: यह दुनिया का सबसे बड़ा समुद्री कछुओं का प्रजनन स्थल है।

6. करलापट: यह ओडिशा का सबसे नया वन्यजीव अभयारण्य है और गौर, चीतल, और सांभर सहित कई जानवरों का घर है।

7. देबरीगड: यह हाथियों के लिए प्रसिद्ध है और कई पक्षी प्रजातियों का भी घर है।

8. बालुखंड-कोणार्क: यह गौर, चीतल, और सांभर सहित कई जानवरों का घर है।

9. सुनेबेडा: यह हाथियों के लिए प्रसिद्ध है और कई पक्षी प्रजातियों का भी घर है।

10. चंदका-दम्पारा: यह हाथियों, बाघों, और कई पक्षी प्रजातियों का घर है।

11. लखारी व्हॅली: यह गौर, चीतल, और सांभर सहित कई जानवरों का घर है।

12. हदगड: यह हाथियों के लिए प्रसिद्ध है और कई पक्षी प्रजातियों का भी घर है।

13. कपिलाश: यह गौर, चीतल, और सांभर सहित कई जानवरों का घर है।

14. बद्रमा: यह हाथियों के लिए प्रसिद्ध है और कई पक्षी प्रजातियों का भी घर है।

15. बैसिपल्ली: यह गौर, चीतल, और सांभर सहित कई जानवरों का घर है।

16. खलासुनी: यह हाथियों के लिए प्रसिद्ध है और कई पक्षी प्रजातियों का भी घर है।

17. कोठागड: यह गौर, चीतल, और सांभर सहित कई जानवरों का घर है।

18. कुल्डीहा: यह हाथियों के लिए प्रसिद्ध है और कई पक्षी प्रजातियों का भी घर है।

पंजाब

  • 1. बिर मोती बाग:
  • स्थान: बठिंडा
  • क्षेत्रफल: 192 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1958
  • विशेषताएं: काले हिरणों के लिए प्रसिद्ध (1200+)

2. बिर गुरदियालपुरा:

  • स्थान: बठिंडा
  • क्षेत्रफल: 490 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1983
  • विशेषताएं: गिद्धों के लिए प्रसिद्ध (100+)

3. बिर भूनेरिहेरी:

  • स्थान: बठिंडा
  • क्षेत्रफल: 125 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1983
  • विशेषताएं: जलपक्षियों के लिए प्रसिद्ध (200+)

4. बिर मेहस:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 168 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1972
  • विशेषताएं: काले हिरणों के लिए प्रसिद्ध (1000+)

5. बिर दोसांझ:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 224 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1972
  • विशेषताएं: काले हिरणों के लिए प्रसिद्ध (800+)

6. बिर भादसों:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 250 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1972
  • विशेषताएं: काले हिरणों के लिए प्रसिद्ध (900+)

7. बिर ऐश्वान:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 240 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1972
  • विशेषताएं: काले हिरणों के लिए प्रसिद्ध (700+)

8. अबोहर:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 1888 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1990
  • विशेषताएं: काले हिरण, चिंकारा, नीलगाय, जंगली सूअर

9. हरिके:

  • स्थान: तरन तारन साहिब
  • क्षेत्रफल: 4894 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1985
  • रामसर स्थल
  • विशेषताएं: जलपक्षियों के लिए प्रसिद्ध (200000+)

10. तखनी रेहमापुर:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 158 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1985
  • विशेषताएं: काले हिरण, चिंकारा, नीलगाय, जंगली सूअर

11. झज्जर बाछोली:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 1367 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1995
  • विशेषताएं: काले हिरण, चिंकारा, नीलगाय, जंगली सूअर

12. कठलौर कुशलियां:

  • स्थान: फिरोजपुर
  • क्षेत्रफल: 1092 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1995
  • विशेषताएं: काले हिरण, चिंकारा, नीलगाय, जंगली सूअर

13. नांगल:

  • स्थान: रूपनगर
  • क्षेत्रफल: 1800 हेक्टेयर
  • स्थापना: 1980
  • रामसर स्थल
  • विशेषताएं: जलपक्षियों के लिए प्रसिद्ध (10000+)

राजस्थान

राजस्थान में 27 वन्य जीव अभयारण्य है, जो कि निम्नलिखित है:

  1. बंध बारेठा वन्य जीव अभयारण्य (भरतपुर) – 199.242 वर्ग किमी
  2. बासी वन्य जीव अभयारण्य (चित्तौड़गढ़) – 138.693 वर्ग किमी
  3. भैंसरोडगढ़ वन्य जीव अभयारण्य (चित्तौड़गढ़) – 201.404 वर्ग किमी
  4. दर्रा अभयारण्य (कोटा, झालावाड़) – 239.765 वर्ग किमी
  5. मरुस्थल वन्य जीव अभयारण्य (बाड़मेर, जैसलमेर) – 3162.006 वर्ग किमी
  6. फूलवारी की नाल वन्य जीव अभयारण्य (उदयपुर) – 511.417 वर्ग किमी
  7. जयसमंद वन्य जीव अभयारण्य (उदयपुर) – 52.348 वर्ग किमी
  8. जमवा रामगढ़ वन्य जीव अभयारण्य (जयपुर) – 300.009 वर्ग किमी
  9. जवाहर सागर वन्य जीव अभयारण्य (कोटा, बूंदी, चित्तौड़गढ़) – 220.091 वर्ग किमी
  10. केलादेवी वन्य जीव अभयारण्य (करौली, सवाई माधोपुर) – 676.821 वर्ग किमी
  11. केसरबाग वन्य जीव अभयारण्य (धौलपुर) – 14.76 वर्ग किमी
  12. कुम्भलगढ़ वन्य जीव अभयारण्य (उदयपुर, राजसमंद, पाली) – 610.53 वर्ग किमी
  13. माउंट आबू वन्य जीव अभयारण्य (सिरोही) – 326.10 वर्ग किमी
  14. नाहरगढ़ वन्य जीव अभयारण्य (जयपुर) – 52.40 वर्ग किमी
  15. राष्ट्रीय चंबल वन्य जीव अभयारण्य (कोटा, सवाई माधोपुर, बूंदी, धौलपुर, करौली) – 280.00 वर्ग किमी
  16. रामगढ़ विशधारी वन्य जीव अभयारण्य (बूंदी) – 307.00 वर्ग किमी
  17. रामसागर वन्य जीव अभयारण्य (धौलपुर) – 34.40 वर्ग किमी
  18. सज्जनगढ़ वन्य जीव अभयारण्य (उदयपुर) – 5.19 वर्ग किमी
  19. सारिस्का वन्य जीव अभयारण्य (अलवर) – 492.29 वर्ग किमी
  20. सारिस्का ‘ए’ वन्य जीव अभयारण्य (अलवर) – 3.01 वर्ग किमी
  21. सवाई माधोपुर वन्य जीव अभयारण्य (सवाई माधोपुर) – 113.07 वर्ग किमी
  22. शेरगढ़ वन्य जीव अभयारण्य ( Baran ) – 81.67 वर्ग किमी
  23. सीता माता वन्य जीव अभयारण्य (चित्तौड़गढ़, उदयपुर) – 422.94 वर्ग किमी
  24. ताल छप्पर वन्य जीव अभयारण्य (चूरू) – 7.19 वर्ग किमी
  25. टोडागढ़ रावली वन्य जीव अभयारण्य (अजमेर, पाली, राजसमंद) – 475.24 वर्ग किमी
  26. वन विहार वन्य जीव अभयारण्य (धौलपुर) – 25.60 वर्ग किमी
  27. सवाई माधोपुर अभयारण्य (सवाई माधोपुर) – 131.30 वर्ग किमी

सिक्किम

  • बार्से रोडोडेंड्रॉन अभयारण्य (Barsey Rhododendron Abhyaranya): 1996 में स्थापित, यह अभयारण्य 104.00 वर्ग किमी के क्षेत्र को कवर करता है।
  • फैम्बोंगलो वन्यजीव अभयारण्य (Fambonglho): 1984 में घोषित, यह अभयारण्य 51.76 वर्ग किमी के क्षेत्र को घेरता है। इस अभयारण्य की सीमा को 2010 में पुनर्परिभाषित किया गया था।
  • क्योनोसला अल्पाइन अभयारण्य (Kyongnosla Alpine Abhyaranya): 1984 में स्थापित, इस अभयारण्य में शुरूआत में 401.05 हेक्टेयर क्षेत्र शामिल था। इसे 1992 में 31 वर्ग किमी तक विस्तारित किया गया था और इसकी सीमा को 2012 में पुनर्परिभाषित किया गया था।
  • मैनाम वन्यजीव अभयारण्य (Maenam): 1987 में घोषित, यह अभयारण्य 35.34 वर्ग किमी के क्षेत्र को कवर करता है। इस अभयारण्य की सीमा को 2012 में पुनर्परिभाषित किया गया था।
  • पांगोलाखा वन्यजीव अभयारण्य (Pangolakha): 2000 में स्थापित और 2002 में अधिसूचित, यह अभयारण्य 128.00 वर्ग किमी में फैला हुआ है।
  • शिंगबा रोडोडेंड्रॉन अभयारण्य (Shingba Rhododendron Abhyaranya): 1984 में स्थापित, इस अभयारण्य में शुरूआत में 32.50 हेक्टेयर क्षेत्र शामिल था। इसे 1993 में 43 वर्ग किमी तक विस्तारित किया गया था और इसकी सीमा को 2012 में पुनर्परिभाषित किया गया था।
  • किटाम पक्षी अभयारण्य (Kitam Pakshi Abhyaranya): इस सूची में सबसे नया अभयारण्य, किटाम पक्षी अभयारण्य, 2005 में स्थापित किया गया था और यह 6.00 वर्ग किमी के क्षेत्र को कवर करता है।

तमिलनाडु

  • कवेरी व उत्तर वन्यजीव अभयारण्य: 2014 में स्थापित, 504.33 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • कवेरी दक्षिण वन्यजीव अभयारण्य: 2022 में स्थापित, 686.41 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • चित रंगुडी पक्षी अभयारण्य: 1989 में स्थापित, 0.48 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • गंगईकोंडान चि AXIS हिरण अभयारण्य: 2013 में स्थापित, 2.88 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • इंदिरा गांधी वन्यजीव अभयारण्य: 1976 में स्थापित, 841.49 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • कदवूर पतली लोरिस अभयारण्य: 2022 में स्थापित, 118.07 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • कालाकाड वन्यजीव अभयारण्य और कन्याकुमारी वन्यजीव अभयारण्य: 1976 में स्थापित, संयुक्त क्षेत्रफल 223.58 वर्ग किमी।
  • कूंथनकुलम-कदानकुलम पक्षी अभयारण्य: 1994 में स्थापित, 1.29 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • कंजिरनकुलम पक्षी अभयारण्य: 1989 में स्थापित, 1.04 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • कराईवेट्टी पक्षी अभयारण्य: 1999 में स्थापित, 4.54 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • करीकली पक्षी अभयारण्य: 1989 में स्थापित, 0.61 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • कझुवेली पक्षी अभयारण्य: 2021 में स्थापित, 51.52 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • कोडाइकनाल वन्यजीव अभयारण्य: 2013 में स्थापित, 608.95 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • मेघमलई वन्यजीव अभयारण्य: 2009 में स्थापित, 269.11 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • मेलासेलवनूर-केलासेलवनूर पक्षी अभयारण्य: 2010 में स्थापित, 5.93 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • मुदुमलाई वन्यजीव अभयारण्य: 1940 में स्थापित, 217.76 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • मुंदंथुरई वन्यजीव अभयारण्य, 1962 में स्थापित (स्थान: तमिलनाडु)। क्षेत्रफल अज्ञात।
  • नानजरायन टैंक पक्षी अभयारण्य: 2022 में स्थापित, 1.26 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • नेल्लाई वन्यजीव अभयारण्य: 2015 में स्थापित, 356.73 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • ऊषुडु झील पक्षी अभयारण्य: 2015 में स्थापित, 3.32 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • पॉइंट कैलीमेरे वन्यजीव अभयारण्य: 1967 में स्थापित, 17.29 वर्ग किमी क्षेत्र को कवर करता है।
  • पॉइंट कैलीमेरे वन्यजीव अभयारण्य “ब्लॉक -ए” और “ब्लॉक -बी”: 2013 में स्थापित
  • पुलिकट झील पक्षी अभयारण्य (1980, 153.67 वर्ग किमी)
  • सक्करक्कोट्टई टैंक पक्षी अभयारण्य (2012, 2.30 वर्ग किमी)
  • सत्यमंगलम वन्यजीव अभयारण्य (2008 और 2011, 1411.61 वर्ग किमी)
  • श्रीविल्लिपुथुर ग्रिजल्ड गिलहरी वन्यजीव अभयारण्य और थेरथंगल पक्षी अभयारण्य (1988, 485.20 वर्ग किमी) [अज्ञात प्रविष्टि]
  • उदयमार्तंडपुराम पक्षी अभयारण्य (1998, 0.45 वर्ग किमी)
  • वाडुवूर पक्षी अभयारण्य (1999, 1.28 वर्ग किमी)
  • वल्लनाडु काला हिरण अभयारण्य (1987, 16.41 वर्ग किमी)
  • वेदाந்தंगल पक्षी अभयारण्य (1998, 0.30 वर्ग किमी)
  • वेल्लोड पक्षी अभयारण्य (2000, 0.77 वर्ग किमी)
  • वेट्टांगुडी पक्षी अभयारण्य (1977, 0.38 वर्ग किमी)

तेलंगाना

1. अमराबाद (नागार्जुनसागर-श्रीशैलम)

  • वर्ष: 1978
  • ऊंचाई: 2166.37 मीटर

2. एटुर्नागाराम

  • वर्ष: 1953
  • ऊंचाई: 803.00 मीटर

3. कावल

  • वर्ष: 1965
  • ऊंचाई: 892.23 मीटर

4. किन्नरसानी

  • वर्ष: 1977
  • ऊंचाई: 635.41 मीटर

5. लांजा मडुगु सिवराम

  • वर्ष: 1978
  • ऊंचाई: 29.81 मीटर

6. मंजीरा

  • वर्ष: 1978
  • ऊंचाई: 20.00 मीटर

7. पाखल

  • वर्ष: 1952
  • ऊंचाई: 860.00 मीटर

8. पोचराम

  • वर्ष: 1952
  • ऊंचाई: 129.84 मीटर

9. प्राणहिता

  • वर्ष: 1980
  • ऊंचाई: 136.03 मीटर

त्रिपुरा

  1. गुमटी वन्यजीव अभयारण्य:
  • स्थापना: 1988
  • क्षेत्रफल: 389.54 वर्ग किमी
  • स्थान: त्रिपुरा का दक्षिण-पूर्वी भाग
  • प्रमुख विशेषताएं: एशियाई हाथी, सांबर हिरण, जंगली सूअर और कई पक्षी प्रजातियाँ जैसे विभिन्न जानवरों का आवास।
  • गतिविधियां: जीप सफारी, पक्षी निरीक्षण, प्रकृति पगडंडियां।
  1. रोवा वन्यजीव अभयारण्य:
  • स्थापना: 1988
  • क्षेत्रफल: 0.858 वर्ग किमी
  • स्थान: धर्मनगर वन उप-संभाग
  • प्रमुख विशेषताएं: अपने समृद्ध वनस्पति और जीव जंतुओं के लिए प्रसिद्ध, जिसमें विभिन्न प्रकार के औषधीय पौधे और सरीसृप शामिल हैं।
  • गतिविधियां: प्रकृति सैर, पक्षी निरीक्षण।
  1. सेपाहिजाला वन्यजीव अभयारण्य:
  • स्थापना: 1987
  • क्षेत्रफल: 18.533 वर्ग किमी
  • स्थान: त्रिपुरा का मध्य भाग
  • प्रमुख विशेषताएं: सर्दियों के दौरान प्रवासी पक्षियों के लिए आश्रय स्थल। स्तनधारियों, सरीसृपों और उभयचरों की विभिन्न प्रजातियों के साथ अपनी अनोखी पारिस्थितिकी तंत्र के लिए भी जाना जाता है।
  • गतिविधियां: नाव की सवारी, ट्रेकिंग, पक्षी निरीक्षण।
  1. त्रिशना वन्यजीव अभयारण्य:
  • स्थापना: 1988
  • क्षेत्रफल: 194.708 वर्ग किमी
  • स्थान: दक्षिण त्रिपुरा जिला
  • प्रमुख विशेषताएं: सांबर हिरण, भौंकने वाले हिरण और फेयरे लंगूर जैसे प्राइमेट जैसे जानवरों का आवास।
  • गतिविधियां: जीप सफारी, हाथी की सवारी, प्रकृति पगडंडियां।

उत्तर प्रदेश

  • बकीरा वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: संत कबीर नगर जिला
    • स्थापना: 1990
    • क्षेत्रफल: 28.94 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: बाघ, तेंदुआ, हाथी, हिरण, पक्षी
  • चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: चंदौली जिला
    • स्थापना: 1957
    • क्षेत्रफल: 78.00 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: बाघ, तेंदुआ, हाथी, हिरण, पक्षी
  • चंद्र शेखर आजाद (नवाबगंज) पक्षी अभयारण्य
    • स्थान: उन्नाव जिला
    • स्थापना: 1984
    • क्षेत्रफल: 2.25 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: पेलिकन, जलकाक, बगुले, बगुले
  • डॉ. भीमराव अंबेडकर पक्षी अभयारण्य
    • स्थान: बदायूं जिला
    • स्थापना: 2003
    • क्षेत्रफल: 4.27 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: पेलिकन, जलकाक, बगुले, बगुले
  • हस्तिनापुर वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: मेरठ जिला
    • स्थापना: 1986
    • क्षेत्रफल: 2073.00 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: बाघ, तेंदुआ, हाथी, हिरण, पक्षी
  • जय प्रकाश नारायण (सुरहताल) पक्षी अभयारण्य
    • स्थान: आगरा जिला
    • स्थापना: 1991
    • क्षेत्रफल: 34.32 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: पेलिकन, जलकाक, बगुले, बगुले
  • कछुआ (कछुआ) वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: वाराणसी जिला
    • स्थापना: 1989
    • क्षेत्रफल: 30 किलोमीटर (लंबाई)
    • वन्यजीव: भारतीय सॉफ्टशेल कछुआ, गंगा नदी कछुआ, धब्बेदार तालाब कछुआ
  • कैमूर वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: मिर्जापुर जिला
    • स्थापना: 1982
    • क्षेत्रफल: 500.73 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: बाघ, तेंदुआ, हाथी, हिरण, पक्षी
  • कटर्नियाघाट वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: बहराइच जिला
    • स्थापना: 1976
    • क्षेत्रफल: 400.09 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: बाघ, तेंदुआ, हाथी, हिरण, पक्षी
  • किशनपुर वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: लखीमपुर खीरी जिला
    • स्थापना: 1972
    • क्षेत्रफल: 227.00 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: बाघ, तेंदुआ, हाथी, हिरण, पक्षी
  • लाख बाहोसी पक्षी अभयारण्य
    • स्थान: बुलंदशहर जिला
    • स्थापना: 1988
    • क्षेत्रफल: 80.24 वर्ग किलोमीटर
    • वन्यजीव: पेलिकन, जलकाक, बगुले, बगुले
  • महावीर स्वामी वन्यजीव अभयारण्य
    • स्थान: गाजियाबाद जिला
    • स्थापना

उत्तराखंड

  • अस्कोट कस्तूरी मृग अभयारण्य: 1987 में स्थापित, यह अभयारण्य लुप्तप्राय प्रजाति कस्तूरी मृग के लिए जाना जाता है। यहां कई अन्य जानवर भी पाए जाते हैं जिनमें तेंदुए, जंगली बिल्लियाँ, सियार और विभिन्न पक्षी शामिल हैं।
  • बिंसर वन्य जीव अभयारण्य: 1988 में स्थापित, यह अभयारण्य हिमालय श्रृंखला के मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। यह पक्षी देखने के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य है और यहाँ 200 से अधिक प्रजातियाँ पाई जाती हैं, जिनमें तीतर, लंगूर और दुर्लभ हिमालयी काला भालू शामिल हैं।
  • गोविंद पशु विहार वन्य जीव अभयारण्य: पहले गोविंद पशु विहार राष्ट्रीय उद्यान के नाम से जाना जाता था, यह अभयारण्य 470 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुआ है। गढ़वाल हिमालय में स्थित, यह ऊंचाई वाले आवास का दावा करता है जो विभिन्न जानवरों को आश्रय प्रदान करता है जैसे कि हिम तेंदुए, काले भालू, थार और मोनाल तीतर और हिमालयी तीतर जैसे पक्षी।
  • केदारनाथ वन्य जीव अभयारण्य: 1972 में स्थापित, इस अभयारण्य का नाम पवित्र शहर केदारनाथ के नाम पर रखा गया है। चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में फैला, यह विभिन्न जानवरों के लिए आवास प्रदान करता है जिनमें हिमालयी कस्तूरी मृग, भूरे भालू और हिमालयी तीतर और लैमरजियर जैसे पक्षी शामिल हैं।
  • मसूरी हिल्स: हालांकि यह एक निर्दिष्ट वन्यजीव अभयारण्य नहीं है, मसूरी में कुछ संरक्षित क्षेत्र हैं। ये क्षेत्र विभिन्न पक्षियों का घर हैं जैसे कालिज तीतर, आम बाज-च Cuckoo, और स्लेटी सिर वाला पैराकेट।
  • नंदाऊर वन्य जीव अभयारण्य: यह हाल ही में स्थापित अभयारण्य (2012) चमोली जिले में स्थित है। यह बाघों, तेंदुओं, हाथियों और पश्चिमी तीतर और चीर तीतर जैसे पक्षियों के लिए आश्रय स्थल प्रदान करता है।
  • सोना नदी वन्य जीव अभयारण्य: 1987 में स्थापित, यह अभयारण्य कॉर्बेट टाइगर रिजर्व का हिस्सा है। यह बाघ, हाथी, तेंदुए और 550 से अधिक प्रजातियों के पक्षियों सहित अपनी विविध वन्यजीव आबादी के लिए जाना जाता है।

पश्चिम बंगाल

  1. बल्लवपुर वन्यजीव अभयारण्य: बीरभूम जिले में स्थित, यह विभिन्न प्रकार के जानवरों का घर है, जिनमें चीतल, सांबर, हिरण, जंगली सूअर और भालू शामिल हैं।
  2. बक्सा टाइगर रिजर्व: जलपाईगुड़ी जिले में स्थित, यह अभ्यारण्य बाघों, हाथियों, तेंदुओं, गौर और बाइसन जैसे विविध वन्यजीवों के लिए जाना जाता है।
  3. बेथुआदाहाड़ी वन्यजीव अभयारण्य: यह अभयारण्य नदिया जिले में स्थित है और चीतल, सांबर, हिरण और जंगली सूअर जैसे जीवों को आश्रय देता है।
  4. बिभूति भूषण वन्यजीव अभयारण्य: बांकुरा जिले में पाया जाने वाला यह अभयारण्य चीतल, सांबर, हिरण और जंगली सूअर का घर है।
  5. चपरामाड़ी वन्यजीव अभयारण्य: जलपाईगुड़ी जिले में स्थित यह अभयारण्य हाथियों, तेंदुओं, गौर और बाइसन के लिए वासस्थान प्रदान करता है।
  6. चिंतामणि कार पक्षी अभयारण्य: नदिया जिले में स्थित, यह विभिन्न पक्षियों जैसे पेलिकन, जलकाग और बगुलों के लिए आश्रय स्थल है।
  7. हालिडे आईलैंड वन्यजीव अभयारण्य: दक्षिण 24 परगना जिले में स्थित, यह चीतल, सांबर, हिरण और जंगली सूअर जैसे जानवरों को संरक्षण प्रदान करता है।
  8. जोरपोखरी समन्दर अभयारण्य: दार्जिलिंग जिले में स्थित, यह अभयारण्य लुप्तप्राय हिमालयी समन्दर की रक्षा के लिए समर्पित है।
  9. लोथियन आईलैंड वन्यजीव अभयारण्य: दक्षिण 24 परगना जिले में पाया जाता है, यह चीतल, सांबर, हिरण और जंगली सूअर को वासस्थान प्रदान करता है।
  10. महानंदा वन्यजीव अभयारण्य: दार्जिलिंग जिले में स्थित, यह अभयारण्य हाथियों, तेंदुओं, गौर और बाइसन सहित विविध वन्यजीवों को संरक्षण देता है।
  11. पाखी मीनार पक्षी अभयारण्य: कोलकाता जिले में स्थित, यह पक्षी प्रेमियों के लिए एक आकर्षण का केंद्र है, जहां पेलिकन, जलकाग और बगुलों जैसे विभिन्न पक्षी पाए जाते हैं।
  12. रायगंज वन्यजीव अभयारण्य: उत्तर दिनाजपुर जिले में स्थित, यह अभयारण्य चीतल, सांबर, हिरण और जंगली सूअर जैसे जानवरों को आश्रय देता है।
  13. रामनाबागान वन्यजीव अभयारण्य: कोलकाता जिले में पाया जाता है, यह चीतल, सांबर, हिरण और जंगली सूअर को वासस्थान प्रदान करता है।
  14. साजनेखाली वन्यजीव अभयारण्य: दक्षिण 24 परगना जिले में स्थित, यह अभयारण्य रॉयल बंगाल टाइगर के लिए प्रसिद्ध है।
  15. सेंचल वन्यजीव अभयारण्य: दार्जिलिंग जिले में स्थित, यह दुर्लभ और लुप्तप्राय लाल पांडा का घर है।
  16. पश्चिम सुंदरवन वन्यजीव अभयारण्य: दक्षिण 24 परगना जिले में पाया जाता है, यह रॉयल बंगाल टाइगर सहित अन्य वन्यजीवों को संरक्षण देता है।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह

  1. अरियल द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  2. बांस द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  3. बंजर द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  4. बत्तीमल द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  5. बेले द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  6. बेनेट द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  7. बिंघम द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  8. ब्लिस्टर द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  9. ब्लफ द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  10. बॉन्डोविल द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  11. ब्रश द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  12. बुकानन द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  13. चैनल द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  14. सिंक द्वीपसमूह वन्यजीव अभयारण्य
  15. क्लाइड द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  16. कोन द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  17. कर्ल्यू (बी.पी.) द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  18. कर्ल्यू द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  19. क्यूथबर्ट खाड़ी वन्यजीव अभयारण्य
  20. डिफेंस द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  21. डॉट द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  22. डॉटरेल द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  23. डंकन द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  24. पूर्वी द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  25. इंग्लिस द्वीप के पूर्व में वन्यजीव अभयारण्य
  26. अंडा द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  27. इलैट द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  28. प्रवेश द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  29. गैलाथिया खाड़ी वन्यजीव अभयारण्य
  30. गैंडर द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  31. गिरजान द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  32. हंस द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  33. हंप द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  34. साक्षात्कार द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  35. जेम्स द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  36. जंगल द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  37. क्वांगतुंग द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  38. कैड द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  39. लैंडफॉल द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  40. लाटाउचे द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  41. लोहाबर्रैक (खारे पानी का मगरमच्छ) वन्यजीव अभयारण्य
  42. मैंग्रोव द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  43. मास्क द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  44. मेयो द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  45. मेगापोड द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  46. मोंटगोमेरी द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  47. नरकौंडम द्वीप वन्याजीव अभयारण्य
  48. उत्तर भाई द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  49. उत्तरी द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  50. उत्तरी रीफ द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  51. ओलिवर द्वीप वन्यजीव अभयारण्य
  52. ऑर्किड द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Orchid Island WLS)
  53. ऑक्स द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Ox Island WLS)
  54. ऑयस्टर द्वीप-I वन्यजीव अभयारण्य (Oyster Island-I WLS)
  55. ऑयस्टर द्वीप-II वन्यजीव अभयारण्य (Oyster Island-II WLS)
  56. पेजेट द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Paget Island WLS)
  57. पार्किंसन द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Parkinson Island WLS)
  58. पैसेज द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Passage Island WLS)
  59. पैट्रिक द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Patric Island WLS)
  60. पीकॉक द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Peacock Island WLS)
  61. पिटमैन द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Pitman Island WLS)
  62. पॉइंट द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Point Island WLS)
  63. पोटनमा द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Potanma Islands WLS)
  64. रेंजर द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Ranger Island WLS)
  65. रीफ द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Reef Island WLS)
  66. रोपर द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Roper Island WLS)
  67. रॉस द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Ross Island WLS)
  68. रोव द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Rowe Island WLS)
  69. सैंडी द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Sandy Island WLS)
  70. सी सर्पेंट द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Sea Serpent Island WLS)
  71. शार्क द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Shark Island WLS)
  72. शीरम द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Shearme Island WLS)
  73. सर ह्यू रोज द्वीप वन्यजीव अभयारण्य (Sir Hugh Rose Island WLS)
  74. सिस्टर्स आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Sisters Island Wildlife Sanctuary)
  75. स्नेक आइलैंड-1 वन्यजीव अभयारण्य (Snake Island-I Wildlife Sanctuary)
  76. स्नेक आइलैंड-2 वन्यजीव अभयारण्य (Snake Island-II Wildlife Sanctuary)
  77. साउथ ब्रदर आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (South Brother Island Wildlife Sanctuary)
  78. साउथ रीफ आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (South Reef Island Wildlife Sanctuary)
  79. साउथ सेंटिनेल आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (South Sentinel Island Wildlife Sanctuary)
  80. स्पाइक आइलैंड-1 वन्यजीव अभयारण्य (Spike Island-I Wildlife Sanctuary)
  81. स्पाइक आइलैंड-2 वन्यजीव अभयारण्य (Spike Island-II Wildlife Sanctuary)
  82. स्टोट आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Stoat Island Wildlife Sanctuary)
  83. सूरत आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Surat Island Wildlife Sanctuary)
  84. स्वाम्प आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Swamp Island Wildlife Sanctuary)
  85. टेबल (डेलगार्नो) आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Table (Delgarno) Island Wildlife Sanctuary)
  86. टेबल (एक्सेल्सियर) आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Table (Excelsior) Island Wildlife Sanctuary)
  87. तालाबाईचा आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Talabaicha Island Wildlife Sanctuary)
  88. टेम्पल आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Temple Island Wildlife Sanctuary)
  89. तिल्लोंगचांग आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Tillongchang Island Wildlife Sanctuary)
  90. ट्री आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Tree Island Wildlife Sanctuary)
  91. ट्रिल्बी आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Trilby Island Wildlife Sanctuary)
  92. टफ्ट आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Tuft Island Wildlife Sanctuary)
  93. टर्टल आइलैंड्स वन्यजीव अभयारण्य (Turtle Islands Wildlife Sanctuary)
  94. वेस्ट आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (West Island Wildlife Sanctuary)
  95. व्हार्फ आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (Wharf Island Wildlife Sanctuary)
  96. व्हाइट क्लिफ आइलैंड वन्यजीव अभयारण्य (White Cliff Island Wildlife Sanctuary)

चंडीगढ़

चंडीगढ़ में 2 वन्यजीव अभयारण्य हैं:

  • सुखना वन्यजीव अभयारण्य: 3 वर्ग किलोमीटर में फैला सुखना वन्यजीव अभयारण्य चंडीगढ़ शहर के शिवालिक पहाड़ियों में सुखना झील के पास स्थित है। यह तेंदुओं, सांभर, चीतल, जंगली सूअर, नीलगाय और पक्षियों की कई प्रजातियों का घर है। इसे 1998 में वन्यजीव अभयारण्य घोषित किया गया था।
  • सिटी बर्ड अभयारण्य: (City Birds): 1988 को पक्षी अभयारण्य के रूप में घोषित किया।

दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव

दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव में दो वन्यजीव अभयारण्य हैं:

  • दादरा और नगर हवेली वन्यजीव अभयारण्य: 1965 में स्थापित किया गया था और 153 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है। यह अभयारण्य पश्चिमी घाट के दक्षिणी छोर पर स्थित है और इसमें घने सदाबहार वन, अर्ध-सदाबहार वन और मानसूनी वन शामिल हैं। अभयारण्य बाघ, तेंदुआ, हाथी, गौर, सांभर, चिंकारा, जंगली सूअर, और कई पक्षी प्रजातियों सहित कई वन्यजीवों का घर है।
  • दमन गंगा वन्यजीव अभयारण्य: 1980 में स्थापित किया गया था और 4.03 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है। यह अभयारण्य दमन गंगा नदी के किनारे स्थित है और इसमें मैंग्रोव वन, खारे पानी के दलदल और ज्वारीय क्रीक शामिल हैं। अभयारण्य मगरमच्छ, सांप, कछुए, और कई पक्षी प्रजातियों सहित कई वन्यजीवों का घर है।

दिल्ली

दिल्ली में सिर्फ एक ही वन्यजीव अभयारण्य है।

  • असोला भट्टी वन्यजीव अभयारण्य: यह दक्षिणी दिल्ली में स्थित है और यमुना नदी के किनारे 32.71 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। यह अभयारण्य 1991 में स्थापित किया गया था और यह विभिन्न प्रकार के पौधों और जानवरों का घर है। यहां पाए जाने वाले कुछ प्रमुख जानवरों में चीतल, काला हिरण, नीलगाय, जंगली सूअर, भेड़िया, लोमड़ी, गिद्ध, और सांप शामिल हैं।असोला भट्टी वन्यजीव अभयारण्य पक्षी प्रेमियों के लिए भी एक स्वर्ग है। यहां 200 से अधिक पक्षी प्रजातियां पाई जाती हैं, जिनमें कबूतर, तोता, मोर, बाज, और उल्लू शामिल हैं।
Scroll to Top