मौसम (Weather) क्या है?

मौसम से तात्पर्य है किसी स्थान विशेष की किसी विशिष्ट समय पर वातावरणीय परिस्थितियां किस प्रकार की है। किसी स्थान का मौसम उस स्थान के ताप, दाब, बादल, नमी, वर्षा इत्यादि पर निर्भर करता है।

मौसम के तत्व

  • हवा की गति
  • नमी
  • तापमान
  • वर्षा
  • thundersnow
  • बिजली चमकना

मौसम को प्रभावित करने वाले कारक

मौसम में होने वाले सभी परिवर्तन सूर्य के द्वारा ही होते हैं। क्योंकि सूर्य का तापमान बहुत अधिक है और यह गर्म गैसों का एक विशाल गोला है। यह पृथ्वी के लिए ऊष्मा और प्रकाश का मुख्य स्रोत है। यह ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत भी है इसलिए मौसम को प्रभावित करता है। पृथ्वी की सतह, महासागरों और वायुमंडल द्वारा परावर्तित और अवशोषित ऊर्जा किसी भी स्थान पर मौसम का निर्धारण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। मीथेन, जल वाष्प और कार्बन डाइऑक्साइड जैसी गैसें भी मौसम को निर्धारित करने में भूमिका निभाते हैं।

मौसम के घटकों को मापने के लिए प्रयुक्त उपकरण

किसी स्थान का तापमान थर्मामीटर से मापा जाता है। किसी स्थान का उच्चतम और निम्नतम तापमान अधिकतम न्यूनतम थर्मामीटर (एमएमटी) का उपयोग करके मापा जाता है। वर्षा गेज का उपयोग वर्षा को मापने के लिए किया जाता है। वर्षामापी को ओमरेओमीटर या पुलिओमीटर के नाम से भी जाना जाता है। इसे इकाइयों मिलीमीटर या सेंटीमीटर का उपयोग करके व्यक्त किया जाता है। एनीमोमीटर का उपयोग हवा की गति और दिशा को मापने के लिए किया जाता है। किसी स्थान की आर्द्रता को हवा में नमी की मात्रा के रूप में परिभाषित किया जाता है और इसे हाइग्रोमीटर का उपयोग करके मापा जाता है।