पदार्थ (Matter) किसे कहते है?

प्रत्येक वस्तु जिसका द्रव्यमान तथा आयतन होता है, पदार्थ (द्रव्य) कहलाता है अर्थात पदार्थ स्थान घेरता है तथा उसका कुछ भार होता है। पदार्थ के कण निरंतर गतिशील रहते हैं तथा ये कण एक दूसरे को आकर्षित करते है। पदार्थ के कणों के मध्य रिक्त स्थान होता है। पदार्थ को भौतिक संरचना के आधार पर ठोस, द्रव, गैस, प्लाज्मा एवं बोस आइंस्टाइन कंडेंनसेट में वर्गीकृत किया गया है। ये पदार्थ के अलग-अलग रूप ही पदार्थ की अवस्थाएं कहलाती है। पदार्थ को रासायनिक संरचना के आधार पर तत्व, यौगिक और मिश्रण में वर्गीकृत किया गया है। तत्व एवं योगिक शुद्ध पदार्थ है। शुद्ध पदार्थ में एक ही प्रकार के अवयव होते है। मिश्रण अशुद्ध पदार्थ है। अशुद्ध पदार्थ में एक से अधिक प्रकार के अवयव होते हैं।

अवस्था परिवर्तन

सामान्यतः द्रव्य की तीन अवस्थाएं है: ठोस द्रव एवं गैस। द्रव्य की अवस्थाओं में से किसी एक अवस्था से दूसरी अवस्था में संक्रमण को अवस्था परिवर्तन कहते हैं। अवस्था परिवर्तन तब हो सकता है जब पदार्थ तथा उसके परिवेश के बीच ऊष्मा का विनिमय होता है।

गलन

ठोस से द्रव में अवस्था परिवर्तन को गलन कहते हैं।

संगलन

द्रव से ठोस में अवस्था परिवर्तन को संगलन कहते हैं।

गलनांक

वह ताप जिस पर किसी पदार्थ की ठोस तथा द्रव अवस्थाएं परस्पर तापीय साम्य में होती है उसे उस पदार्थ का गलनांक कहते हैं। गलनांक दाब पर निर्भर करता है ।

प्रसामान्य गलनांक

मानक वायुमंडलीय दाब पर किसी पदार्थ के गलनांक को प्रसामान्य गलनांक कहते है।

वाष्पन

द्रव से वाष्प में अवस्था परिवर्तन को वाष्पन कहते है।

क्वथनांक

वह ताप जिस पर किसी पदार्थ की द्रव तथा वाष्प दोनों अवस्थाएं तापीय साम्य में सहवर्ती होती है उसे पदार्थ का क्वथनांक कहते है।

प्रसामान्य क्वथनांक

मानक वायुमंडलीय दाब पर किसी पदार्थ के क्वथनांक को प्रसामान्य क्वथनांक कहते है।

उर्ध्वपातन

किसी पदार्थ का ठोस अवस्था से वाष्प अवस्था में, बिना द्रव अवस्था से गुजरे, पहुंचना उर्ध्वपातन कहलाता है। शुष्क बर्फ , आयोडीन आदि उर्ध्वपातन पदार्थ है।