द्रवित पेट्रोलियम गैस (Liquid petrolium gas)

द्रवित पेट्रोलियम गैस (LPG) को रसोई गैस के रूप में अधिक जाना जाता है। यह वस्तुतः कई हाइड्रोकार्बन गैसों का मिश्रण है। इसमें मुख्य रूप से प्रोपेन और ब्यूटेन गैसें होती हैं। कमरे के तापमान पर, दोनों गैसें रंगहीन और गंधहीन होती हैं। प्रोपेन का अपना क्वथनांक -42 डिग्री सेल्सियस और ब्यूटेन का -0.5 डिग्री सेल्सियस है।

एलपीजी का निर्माण

एलपीजी का निर्माण पेट्रोलियम के रिफाइनरियों में किया जाता है। रिफाइनरी में, पेट्रोलियम को विभिन्न घटकों में अलग किया जाता है, जिसमें एलपीजी भी शामिल है। एलपीजी का निर्माण मुख्य रूप से पेट्रोलियम के दो घटकों, प्रोपेन और ब्यूटेन से होता है। ये घटक पेट्रोलियम में लगभग 10% तक पाए जाते हैं।

एलपीजी का निर्माण करने की प्रक्रिया निम्नलिखित चरणों में होती है:

  1. पेट्रोलियम का आसवन – पेट्रोलियम को एक पात्र में गर्म किया जाता है, जिससे विभिन्न घटक भाप के रूप में उड़ जाते हैं। इन भापों को फिर ठंडा किया जाता है, जिससे वे तरल रूप में वापस आ जाते हैं।
  2. प्रोपेन और ब्यूटेन का पृथक्करण – तरल घटकों को फिर विभिन्न घटकों में अलग करने के लिए पृथक्करण कॉलम से गुजारा जाता है। प्रोपेन और ब्यूटेन सबसे कम क्वथनांक वाले घटक होते हैं, इसलिए वे सबसे पहले पृथक हो जाते हैं।
  3. एलपीजी का संपीड़न – प्रोपेन और ब्यूटेन को फिर एक संपीड़क के माध्यम से पारित किया जाता है, जिससे वे गैस में बदल जाते हैं। एलपीजी गैस को फिर टैंकों में संग्रहित किया जाता है।

एलपीजी का निर्माण पेट्रोलियम के प्रभाजी आसवन के दौरान होता है। इस प्रक्रिया में, पेट्रोलियम को विभिन्न तापमानों पर गर्म किया जाता है, जिससे अलग-अलग क्वथनांक वाले पदार्थ अलग हो जाते हैं। एलपीजी का उत्पादन तब होता है जब पेट्रोलियम को 20 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान पर गर्म किया जाता है।

एलपीजी का उपयोग घरों में खाना पकाने, गरम करने वाले उपकरणों एवं कुछ वाहनों में इंधन के रूप में किया जाता है। यह एक स्वच्छ ईंधन है जो कम प्रदूषण उत्पन्न करता है।

एलपीजी के कुछ प्रमुख लाभ निम्नलिखित हैं:

  • यह एक स्वच्छ ईंधन है जो कम प्रदूषण उत्पन्न करता है।
  • यह एक कुशल ईंधन है जो कम ऊर्जा की खपत करता है।
  • यह एक सुरक्षित ईंधन है जो आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।

एलपीजी के कुछ प्रमुख नुकसान निम्नलिखित हैं:

  • यह एक ज्वलनशील ईंधन है जो रिसाव की स्थिति में आग का कारण बन सकता है।
  • यह एक महंगा ईंधन है।