औषधीय पौधे

ऐसे पौधे जिनका उपयोग विभिन्न रोगों के उपचार में किया जाता है, औषधीय पौधे कहलाते हैं।

नीम (Azadirachta indica)

इसकी ऊंचाई 20 मीटर तक होती है। इसकी एक टहनी में करीब 9-12 पत्ते पाए जाते है। इसके फूल सफ़ेद रंग के होते हैं और इसकी पत्तियां हरी होती है जो पकने पर हल्की पीली–हरी हो जाती है।

तुलसी (ocimum sanctum)

तुलसी एक झाड़ीनुमा पौधा है। इसके फूल गुच्छेदार तथा बैंगनी रंग के होते हैं तथा इसके बीज घुठलीनुमा होते है।

ब्राम्ही (hydrocotyle asiatica)

यह साग पानी की प्रचुरता में सालो भर हरी भरी रहने वाली छोटी लता है जो अक्सर तालाब या खेत माय किनारे पायी जाती है। इसके पत्ते गुदे के आकार (1 /2 -2 इंच) के होते हैं। यह हरी चटनी के रूप में आदिवासी समाज में प्रचलित है ।

ब्राम्ही (cetella asiatica)

यह अत्यंत उपयोगी एवं गुणकारी पौधा है । यह लता के रूप में जमीन में फैलता है। इसके कोमल तने 1-3 फीट लम्बी और थोड़ी थोड़ी दूर पर गांठ होती है। इन गांठो से जड़े निकलकर जमीन में चली जाती है। पत्ते छोटे,लम्ब,अंडाकार,चिकने,मोटे हरे रंग के तथा छोटे–छोटे होते हैं सफ़ेद हल्के नीले गुलाबी रंग लिए फूल होते हैं। यह नमी वाले स्थान में पाए जाते हैं ।

हल्दी (curcuma longa)

हल्दी के खेतों में तथा बगान में भी लगया जाता है। इसके पत्ते हरे रंग के दीर्घाकार होते हैं। इसका जड़ उपयोग में लाया जाता है। कच्ची हल्दी के रूप में यह सौन्दर्यवर्द्धक है। सुखी हल्दी को लोग मसाले के रूप में इस्तेमाल करे हैं। हल्दी रक्तशोधक और कफ नाशक है ।

आंवला (Phyllanthus emblica)

इसका वृक्ष 5-10 मीटर ऊँचा होता है । आंवला स्वाद में कटु, तीखे, खट्टे, मधुर , और कसैले होते हैं। आंवले में विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है।उसके फूल पत्तीओं के नीचे गुच्छे के रूप में होती है।इनका रंग हल्का हरा तथा सुगन्धित होता है इसके छाल धूसर रंग के होते हैं। इसके छोटे पत्ते 10 – 13 सेंटी मीटर लम्बे टहनियों के सहारे लगा रहता है इसके फल फरवरी –मार्च में पाक कर तैयार हो जाते हैं जो हरापन लिए पिला रहता है ।

औषधीय पौधे और उनके उपयोग

औषधीय पौधावैज्ञानिक नामउपयोगी भागउपयोग
अखरोटJuglans regiaफल, पत्तेएंटीऑक्सीडेंट, हृदय स्वास्थ्य में सुधार, मस्तिष्क कार्य को बढ़ावा
अजवाइनTrachyspermum ammiबीजपेट की समस्याओं का उपचार, पाचन क्रिया को बढ़ावा
अलसीLinum usitatissimumबीजओमेगा-3 फैटी एसिड का स्रोत, त्वचा का स्वास्थ्य सुधार, कोलेस्ट्रॉल कम करना
अमरबेलTinospora cordifoliaतना, पत्तेएंटीबायोटिक, मधुमेह नियंत्रण, बुखार कम करना
अर्जुनTerminalia arjunaछाल, पत्तेहृदय स्वास्थ्य, ब्लड प्रेशर नियंत्रण, रक्त शर्करा नियंत्रण
अशोकSaraca asocaछाल, फूलहार्मोनल संतुलन, स्त्री रोगों का उपचार, ट्यूमर विरोधी गुण
अश्वगंधाWithania somniferaजड़, पत्तेतनाव कम करना, एंटीऑक्सीडेंट, शक्तिवर्धक, स्मृति बढ़ाने वाला
बहुआIpomoea batatasजड़विटामिन ए का स्रोत, मधुमेह नियंत्रण, पाचन सुधार
बचAcorus calamusप्रकंदपाचन क्रिया को बढ़ावा, स्मृति बढ़ाने वाला, तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाना
ब्राह्मीCentella asiaticaपत्तेएंटीऑक्सीडेंट, मस्तिष्क कार्य को बढ़ावा, स्मृति बढ़ाने वाला
भांगराVitex negundoपत्ते, बीजहार्मोनल संतुलन, गठिया का दर्द कम करना, त्वचा रोगों का उपचार
चायपत्तीCamellia sinensisपत्तेएंटीऑक्सीडेंट, मस्तिष्क कार्य को बढ़ावा, ऊर्जा बढ़ाने वाला
गुड़हलHibiscus rosa-sinensisफूल, पत्तेब्लड प्रेशर नियंत्रण, कोलेस्ट्रॉल कम करना, लिवर स्वास्थ्य सुधार
हल्दीCurcuma longaजड़एंटीबायोटिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी, दर्द निवारक, पाचन क्रिया को बढ़ावा
जामुनSyzygium cuminiफल, पत्तेमधुमेह नियंत्रण, एंटीऑक्सीडेंट, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला
कमलNelumbo nuciferaफूल, बीज, प्रकंदतनाव कम करना, नींद में सुधार, हृदय स्वास्थ्य, मस्तिष्क कार्य को बढ़ावा
करंजPongamia pinnataबीज, छालकीटनाशक, त्वचा रोगों का उपचार, गठिया का दर्द कम करना
करी पत्ताMurraya koenigiiपत्तेपाचन क्रिया को बढ़ावा, रक्त शर्करा नियंत्रण, विटामिन सी का स्रोत
लहसुनAllium sativumकली, पत्तेएंटीबायोटिक, कोलेस्ट्रॉल कम करना, रक्तचाप नियंत्रण, हृददय स्वास्थ्य
मेथीTrigonella foenum-graecumबीज, पत्तेरक्त शर्करा नियंत्रण, पाचन क्रिया को बढ़ावा, दूध उत्पादन बढ़ाने वाला
मुसब्बरAloe veraपत्तियों का जेलघाव भरने में सहायक, त्वचा का स्वास्थ्य सुधार, एंटीबायोटिक
नीमAzadirachta indicaपत्ते, बीज, छालएंटीबायोटिक, कीटनाशक,